बैंकों द्वारा राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया गया

0
10
Advertisement

संवददाता, मोहम्मद इसराइल

अंबेडकर नगर आज दिनांक 15 तथा 16 मार्च को बैंकों द्वारा राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया गया जिसमें भारतवर्ष के समस्त राष्ट्रीय कृत बैंकों ने प्रतिभाग किया यह हड़ताल हाल ही में आए बिल में 2 सरकारी बैंकों के निजीकरण के विरुद्ध है जिसमें बैंकों का यह कहना है कि सरकारी योजनाओं में समस्त प्रतिभाग सरकारी बैंकों का ही होता है यदि सरकारी बैंक बैच दिए गए तो जनसामान्य के समस्याओं का कोई भी निवारण नहीं हो पाएगा। तथा आज सरकार द्वारा समस्त सरकारी योजनाओं का जो भी पालन किया जाता है। वैसे राष्ट्रीयकृत बैंकों द्वारा ही किया जाता है सरकारी स्कीमों का 98% भाग सरकारी बैंकों द्वारा ही पूरा किया जाता है। जिसमें सरकारी योजनाओं में जोड़ देना सरकारी बीमा योजना तथा अन्य योजनाएं हैं कोरोना का में भी बैंकों ने बिना रुके अपनी सारी सेवाएं दी बैंकों का यह मानना है यदि आज सरकार ने दो बैंकों को प्राइवेट करने की ठानी है तो भविष्य में सरकार सारे बैंकों को प्राइवेट कर सकती है बैंकों का कहना है कि सरकार बैंक को प्राइवेट करने के बजाए बड़े पूंजीपतियों को बकाया वसूली।

Advertisement