Advertisement

मजदूरों के हक मारकर जेसीबी मशीन से कराया जा रहा है काम
उसका समाचार संकलन करने गये पत्रकार के साथ मारपीट मामला दर्ज

मानवाधिकार मीडिया संवाददाता बुंडू

बुंडू-गरीब मजदूरों को मजदूरी देने के लिए मनरेगा के तहत सरकार द्वारा प्रखंडों में कई तरह से छोटी बड़ी योजनाएं चलायी जा रही है। इसी योजना के तहत कार्य मजदूर के हाथों करवाना है जितना हो सके मजदूरों को रोजगार से जोड़ना है लेकिन आजकल इन योजनाओं में सरकार के नियमावली का दुरूपयोग करते देखा जा रहा है ।इसी योजना के तहत बुंडू थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत रेलाडीह के खुदीमधुकम गांव में प्रह्लाद महतो को डोभा का कार्य मिला है जिसे रोजगार सेवक बीरेन्द्र गोराई के देखरेख में कार्य किया जा रहा है जिसमें गरीबों का हक मारकर धड़ल्ले से सरकारी नियमो का अनदेखी करते हुए jcb मशीन से खुदाई करवाया जा रहा था उसी समय सूत्र से मिली जानकारी के अनुसार स्थानीय पत्रकार मिथुन चंद्र महतो एवं तरुण कुमार महतो के द्वारा उक्त योजना स्थल पर समाचार संकलन करने पहुँचे ओर अपना वीडियोग्राफी करने लगे तो लाभुक प्रह्लाद महतो ओर उनके दोनों बेटे मालखान महतो , पुस्तम महतो एवं इनके अलावा लखीचरण मांझी के द्वारा दोनों पत्रकारों पर हमला एवं मार पीट कर दिया गया और उनके मोबाइल भी छीन लिया गया तरुण कुमार महतो के पाॅकेट से 2000 रुपये पैसा भी छिनतई किया गया ओर 2 घंटे तक बंधक बनाकर रखा गया इसको लेकर बुंडू थाना में मामला दर्ज करवाया गया है बुंडू पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है ।
एक तरफ पूरा देश कोरोना महामारी से जूझ रहा है ओर सरकार का कहना है कि गांव के सभी गरीब मजदूरों को मनरेगा के तहत चलाये जा रहे योजनाओं में रोजगार से जोड़ना है ओर प्रवासी मजदूर को भी लाया जा रहा है अगर सही तरीके से गांवों में कार्य किया जाय तो इस संकट की घड़ी में मनरेगा मजदूरों के लिए वरदान साबित हो सकता है।

Advertisement