गोंडा पुलिस ने सनसनीखेज घटना का किया खुलासा: जानलेवा हमले के मामले में वादी ही निकला मास्टरमाइंड, 6 गिरफ्तार, रेप के केस में सुलह के लिए रची थी साजिश

0
66
Advertisement

गोंडा: गोंडा पुलिस ने सनसनीखेज घटना का किया खुलासा| जानलेवा हमले में वादी ही निकला जानलेवा हमले का मास्टरमाइंड… मास्टरमाइंड सहित 6 आरोपियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार| आरोपियों के पास से 1 अदद अवैध तमंचा व 1 अदद नाजायज चाकू बरामद| अपने ही साथियों से मास्टरमाइंड ने अपने ऊपर करवाया था जानलेवा हमला| रेप व तालाब के प्रकरण में समझौता/कब्जे का था उद्देश्य| बीते साल रेप के आरोप में जेल गया था मास्टरमाइंड|
बीते 11 मई तालाब में मछली मारने को लेकर भी हुआ था विवाद| मेडिकल रिपार्ट में गन शॉट दिखाकर निर्दोषों को फंसाने की रची थी साजिश| खुलासे करने वाली पुलिस टीम को 25 हजार रुपये के नगद पुरस्कार की घोषणा| जिले की उमरीबेगमगंज पुलिस, स्वाट टीम व सर्विलांस सेल ने घटना का किया खुलासा| उमरीबेगमगंज थाना क्षेत्र के अकौनी गांव में हुआ था मामला।
गोंडा पुलिस ने बताया,”दिनांक 11.05.2021 को वादी शिवकुमार पासवान पुत्र झब्बर (निवासी रैकवारपुरवा अकौनी थाना उमरीबेगमगंज) ने थाना उमरीबेगमगंज पर सूचना दी कि व रात्रि में अपने घर पर सो रहा था, पेशाब करने के लिए उठा तो गांव के अशोक मिश्रा उर्फ टेनू, प्रदीप तिवारी व नन्कू पासवान ने पुरानी रंजिश को लेकर उसे गोली मार दिया जिससे वह घायल हो गया था। इस सूचना पर उमरीबेगमगंज पुलिस व फील्ड यूनिट तत्काल मौके पर पहुंचकर घटनास्थल का निरीक्षण करते हुए साक्ष्यों का संकलन व आस-पास के लोगो से पूछताछ की गयी तो घटना संदिग्ध प्रतीत हुई। उक्त घटना को संज्ञान में लेते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा द्वारा जनपद की स्वाट/ सर्विलांस व फील्ड यूनिट को घटना के सफल अनावरण हेतु मौके पर भेजकर साक्ष्य संकलन की कार्यवाही करायी गयी थी तथा घटना की गहनता से जांच कर दोषी व्यक्तियों की गिरफ्तारी करने के निर्देश थानाध्यक्ष उमरीबेगमगंज व प्रभारी स्वाट/ सर्विलांस को दिए थे।
पुलिस ने बताया,’ जानलेवा हमले के मामले में विवेचना के दौरान साक्ष्यों व गवाह बयान के आधार पर ज्ञात हुआ कि वर्ष 2019 में वादी दुष्कर्म के आरोप में जेल भेज गया था जिसका मुकदमा रामआशीष पासवान की पत्नी द्वारा लिखाया गया था जिसकी पैरवी अशोक मिश्रा व प्रदीप तिवारी कर रहे थे तथा नन्कू पासवान से तालाब के पट्टे का विवाद था उसी द्वेष भावना के कारण आरोपीगणो को झूठे मुकदमें में फंसा कर जेल भेजने के लिए शिवकुमार द्वारा अपने साथी अभियुक्तों छोटू उर्फ शैलेन्द्र, दयाराम, मगनू, प्रदीप सत्यप्रकाश तथा प्रकाश सिंह के साथ मिलकर षडयंत्र बनाया गया| जिसकी योजना प्रकाश सिंह कोटेदार के घर पर रची गयी थी तथा 10-11 मई की रात्रि को दयाराम द्वारा शिव कुमार को चाकू मारा गया था तथा मौके पर ही फायर की गयी थी। चाकू के घाव से शिवकुमार का काफी खून बह गया था जिससे वह मौके पर ही बेहोश हो गया था।
अभियुक्तगणों द्वारा शिवकुमार को चाकू से घाव करने के कारण अत्याधिक खून बह गया था जिससे शिवकुमार की जान भी जा सकती थी। थाना उमरीबेगमगंज पुलिस व स्वाट सर्विलांस की संयुक्त टीम द्वारा विवेचना के आधार पर दोषी पाये गये उपरोक्त आरोपी अभियुक्तगणो को गिरफ्तार कर घटना में प्रयुक्त 01 अदद अवैध तमंचा 12 बोर मय 01 अदद खोखा कारतूस व 01 अदद नाजायज चाकू बरामद किया गया। अभियुक्तगणों को वास्ते रिमांड माननीय न्यायालय रवाना किया जा रहा है। उक्त सराहनीय कार्य के लिए पुलिस अधीक्षक द्वारा पूरी टीम को ₹ 25000/- के नकद पुरस्कार से पुरस्कृत करने की घोषणा की गई।
गिरफ्तार आरोपी-

  1. प्रकाश सिंह पुत्र विजयनाथ सिंह निवासी अकौनी डीहा थाना उमरीबेगमंगज गोण्डा।
  2. छोटकू उर्फ शैलेन्द्र सिंह पुत्र राम नरेश नि0 अकौनी डीहा थाना उमरीबेगमंगज, गोण्डा।
  3. मंगनू पण्डित उर्फ पवन मिश्रा पुत्र देवी सहाय निवासी अकौनी डीहा थाना उमरीबेगमंगज
  4. प्रदीप मिश्रा पुत्र राम बहादुर मिश्रा निवासी भाउपुरवा मौजा अकौनी थाना उमरीबेगमंगज।
  5. शिव कुमार पुत्र झब्बर निवासी अकौनी रैकवार पुरवा थाना उमरीबेगमगंज जनपद गोण्डा।
  6. दयाराम पुत्र रामपति निवासी रैकवार पुरवा मौजा अकौनी थाना उमरीबेगमगंज जनपद गोण्डा।

Manavadhikar Media
Report
Mohammad Ahmad (District Reporter)

Advertisement