सीएमडी एनसीएल ने निदेशक तकनीकी के साथ किया ब्लॉक-बी क्षेत्र का दौरा

उत्तर प्रदेश मिर्जापुर मंडल सोनभद्र,
Share News

एनसीएल कर रही क्षमता से अधिक कोयला प्रेषण का प्रयास

उर्जान्चल। भारत सरकार की मिनीरत्न कंपनी नॉर्दर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड(एनसीएल) देश की बढ़ी हुई ऊर्जा आवश्यकताओं के अनुरूप कोयला उत्पादन एवं प्रेषण करने में लगी हुई है, इसी दिशा में गुरुवार को सीएमडी एनसीएल प्रभात कुमार सिन्हा व एनसीएल के निदेशक (तकनीकी/परियोजना एवं योजना), एस एस सिन्हा ने शुक्रवार को एनसीएल की ब्लॉक- बी खदान का दौरा कर उत्पादन, प्रेषण एवं इससे जुड़े हुआ संरचनाओं व वृहद मशीनों का निरीक्षण किया और आवश्यक दिशा निर्देश दिये। सीएमडी व निदेशक तकनीकी ने ब्लॉक-बी क्षेत्र में खदान में नव निर्मित डंपर पार्किंग, परियोजना की कैंटीन, रेस्ट शेल्टर आदि का भी दौरा किया। उन्होने ‘फ़र्स्ट माइल कनेकटिविटी’ ब्लॉक-बी सीएचपी साइलों से पूर्व मध्य रेलवे से जोड़ने के लिए एनएच पर बने एलसी गेट का भी दौरा किया। ब्लॉक-बी सीएचपी के रेलवे लाइन से जुड़ जाने के बाद परियोजना से पर्यावरण अनुकूल तरीके से सीएचपी से कोयला प्रेषण किया जा रहा है। एनसीएल की महत्वकांक्षी ‘फ़र्स्ट माइल कनेकटिविटी’ के तहत अपनी परियोजनाओं के कोयला प्रेषण तंत्र को मजबूत कर नए सीएचपी एवं रैपिड लोडिंग सिस्टम का निर्माण कर रही है जिससे सड़क मार्ग से कोयला प्रेषण भारी कमी आ रही है।गौरतलब है कि बिजली घरों में अचानक बढ़ी हुई कोयला मांग को ध्यान में रखते हुए एनसीएल शीर्ष प्रबंधन कंपनी के उत्पादन एवं प्रेषण पर लगातार निगरानी रख र हैं एवं क्षमता से अधिक प्रेषण करने का प्रयास कर रहा है, चालू वित्त वर्ष की प्रथम छ्माही में कंपनी ने पिछले वर्ष की समान अवधि की तुलना में लगभग 15 फीसदी अधिक कोयला प्रेषण किया है।