माता -पिता और गुरु के ऋण से मुक्त नही हो सकता–प्रो हरेराम त्रिपाठी

वाराणसी
Share News

वाराणसी
*सरदार बल्लभ भाई पटेल की जयंती मनायी गयी।*
सम्पूर्णानन्द संस्कृत विश्वविद्यालय वाराणसी के प्राचीन अर्थ शास्त्र एवं राजशास्त्र विभाग एवं राष्ट्रीय सेवा योजना के तत्वावधान में आज अपरांह 1:00 बजे देश को राष्ट्रीयता के एक सूत्र में पिरोने वाले लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल की आज 146वीं जयंती मनायी गयी।
पूर्व प्रतिकुलपति प्रो हेतराम कछवाहा बतौर मुख्य अतिथि कहा कि सरदार पटेल की जयंती को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में देश में मनाया जाता है,वे देश के प्रथम गृहमंत्री,भारत रत्न और राष्ट्रीय एकता के अखंड प्रति मूर्ति थे।
विशिष्ट अतिथि ज्योतिष विभागाध्यक्ष प्रोफ़ेसर अमित शुक्ल ने सरदार पटेल के व्यक्तित्व कृतित्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि राष्ट्रीय एकता की भावना के साथ युवा पीढ़ी को सीखने की जरूरत है।
अध्यक्षता एन एस एस के समन्वयक डॉ दिनेश कुमार गर्ग ने लौहपुरुष श्री पटेल जी जीवन मूल्यों की अवधारणा पर अपने विचार व्यक्त करते हुये विद्यार्थियों उनके आदर्श को स्वीकार कर राष्ट्र निर्माण मे सहयोग देने की बात कही।धन्यवाद ज्ञापन डॉ दिनेशकुमार ने किया।
जयंती समारोह के प्रारम्भ में सरदार पटेल जी की तैलीय चित्र पर अतिथियों द्वारा माल्यार्पण किया गया।
संचालन कार्यक्रम अधिकारी डॉ विद्या चंद्रा ने किया।
उक्त कार्यक्रम आधा दर्जन विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया गया।

31 अक्टूबर 21
अजय कुमार उपाध्याय
जिला रिपोर्टर
वाराणसी

IMG-20211031-WA0026.jpg

Ajay Kumar Upadhyay