शिक्षकों के प्रति सौतेला व्यवहार उचित नहीं-आशुतोष शुक्ल

0
11
Advertisement

रायबरेली। उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के नेतृत्व में ब्लॉक संसाधन केंद्र बछरावां के परिसर में शिक्षक/शिक्षिकाओं ने अपने 21 सूत्रीय मांगों को लेकर धरना दिया और अपना ज्ञापन मुख्य सचिव शासन को पंजीकृत डाक के माध्यम से भेजा धरने को पदाधिकारियों ने संबोधित किया और मांग ना पूरी होने पर भविष्य की रणनीति बनाते हुए आंदोलन की चेतावनी दी।

प्राथमिक शिक्षक, शिक्षामित्र,अनुदेशक रसोइया आंगनबाड़ी कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय शिक्षिका द्वारा ब्लॉक संसाधन केंद्र पर मंगलवार को एक दिवसीय धरना दिया गया इस दौरान अपने इक्कीस सूत्रीय मांगो मैं प्रमुख मांगे पुरानी पेंशन बहाली कैशलेस चिकित्सा एसीपी उपार्जित अवकाश द्वितीय शनिवार के अवकाश की मांग की।

प्रत्येक कक्षा पर अध्यापक शिक्षकों का अंतर्जनपदीय स्थानांतरण शिक्षा मित्रो को स्थाई शिक्षक बनाने की मांग आंगनबाड़ी और रसोइयों के मानदेय में वृद्धि मृतक शिक्षामित्र एवं अनुदेशक के पाल्यो को नौकरी देने संबंधित मांगे रखी गई।

धरना को संबोधित करते हुए उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के अध्यक्ष आशुतोष शुक्ल ने कहा कि सरकार की तरफ से शिक्षकों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है। उनकी समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ तो धरना प्रदर्शन विशाल रुख अपनाएगा।

संघ के मंत्री उमेश कुमार व ब्लाक के वरिष्ठ उपाध्यक्ष लोकतंत्र शुक्ल ने भी धरने को सम्बोधित किया। तेज बारिश के बावजूद शिक्षक साथियों ने धैर्य नहीं खोया और अपनी मांगों के समर्थन में धरना स्थल पर डटे रहे और संगठन को आश्वस्त किया कि जब भी शिक्षक हित में धरना प्रर्दशन होगें धरना प्रर्दशन में उपस्थित रहूंगा।

धरने में उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष आशुतोष शुक्ल, वरिष्ठ उपाध्यक्ष लोकतंत्र शुक्ल, नीतू सिंह, अनीता वर्मा, रेणु वर्मा, गायत्री देवी, रश्मि, राम प्रकाश, राम रतन, दीपक पांडेय, अमित शुक्ल, शांत कुमार सिंह द्वितेंद्र कुमार, राजेंद्र प्रसाद शर्मा, प्रशांत त्रिवेदी, पर्वेक्षक धर्मेन्द्र अवस्थी शैलेन्द्र कुमार वर्मा शिखा मीरा उषा शशिलेश कुमार आदि दर्जनों शिक्षक/शिक्षिकाएं उपस्थित रहें।

Advertisement