मीरजापुर जनपद के बार्डर से दस किलोमीटर दूर प्रयागराज जनपद के कोरांव थाना के अयोध्या में बेलन पुल पर बड़ी वारदात

उत्तर प्रदेश मिर्जापुर मंडल
Share News

मीरजापुर जनपद के बार्डर से दस किलोमीटर दूर प्रयागराज जनपद के कोरांव थाना के अयोध्या में बेलन पुल पर बड़ी वारदात,

धान के कारोबारी सगे भाइयों सहित तीन युवकों की हत्‍या

डिप्टीब्यूरो चीफ जितेंद्र कुमार केशरी

ड्रमंडगंज (मीरजापुर)।प्रयागराज जनपद के कोरांव थानांतर्गत अयोध्या स्थित बेलन नदी के पुल पर बड़ी वारदात हो गरी। यमुनापार में धान के कारोबारी सगे भाइयों सहित तीन युवकों की हत्‍या किये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। यमुनापार के कोरांव थाना क्षेत्र में सोमवार की रात तीन युवकों की हत्‍या कर दी गई। इनमें से दो सगे भाई थे। अयोध्या के बेलन नदी पुल पर तीनों की एक ही स्‍थान पर लाश मिली। जानकारी होने पर कई थानों की पुलिस तहकीकात कर रही है। हत्‍यारों का पता नहीं चल सका है। आक्रोशित परिवार के लोग व ग्रामीण पुलिस को शवों को सौंपने से इंकार कर दिया है। उच्‍चाधिकारियों को बुलाने की मांग की जा रही है।सगे भाई धान का कारोबार करते थे, व्‍यापारी से रुपये लेने गए थे।यमुनापार के कोरांव थाना क्षेत्र के गजाधरपुर गांव निवासी पप्‍पू केसरी रहते हैं। उनके दो पुत्र विकास केसरी 25 और आकाश केशरी 22 हैं। दोनों सगे भाई धान का कारोबार करते थे। सोमवार की रात में विकास और आकाश गांव के ही मौनी आदिवासी के 20 वर्षीय पुत्र कलवा के साथ मीरजापुर जनपद के ड्रमंडगंज गए थे। वहां किसी व्‍यापारी को धान उन्‍होंने बेचा था, उसी का रुपया लेने तीनों गए थे।पिता पप्‍पू केसरी के मुताबिक तीन लाख रुपये लेने के लिए विकास, आकाश और कलवा एक ही बाइक से गए थे। उसका पता नहीं चल सका है क‍ि व्‍यापारी से उन्‍हें रुपये मिले या नहीं, इसका पुलिस पता लगा रही है। ड्रमंडगंज से तीनों बाइक पर सवार होकर वापस लौट रहे थे। हालांकि जब देर रात तक वे वापस घर नहीं लौटे तो परिवार वालों को चिंता हुई।ग्रामीणों के साथ तीनों के परिवार के सदस्‍य खोजते हुए रामगढ़ पुलिस चौकी के निकट अयोध्‍या ग्राम पंचायत स्थित बेलन नदी के पुल पर पहुंचे तो वहां बाइक खड़ी थी। नजदीक जाने पर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। विकास, आकाश और कलवा का शव वहां पड़ा था। कुछ ही देर में सूचना पर वहां पुलिस भी पहुंची। बताते हैं कि किसी के गले पर काला निशान था तो किसी के शरीर व गले पर चाकू के निशान थे।ग्रामीणों में वारदात को लेकर आक्रोशसुबह भारी संख्‍या में ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। एसओ खीरी, एसओ मांडा, इंस्‍पेक्‍टर कोरांव के साथ भारी संख्‍या में वहां पुलिस पहुंची। जांच पड़ताल की जा रही है। हालांकि आक्रोशित लोगों ने पुलिस को शव देने से मना कर दिया है। वहां क्षेत्रीय विधायक राजमणि कोल, तहसीलदार डाक्‍टर विशाल शर्मा, चेयरमैन नरसिंह कुमार केसरी भी पहुंच गए हैं। लोगों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।प्रयागराज में बड़ी वारदात हुई। यमुनापार के कोरांव थाना क्षेत्र में सोमवार की रात तीन युवकों की हत्‍या कर दी गई। इनमें से दो सगे भाई थे। बेलन नदी पुल पर तीनों की एक ही स्‍थान पर लाश मिली। जानकारी होने पर कई थानों की पहुंची पुलिस तहकीकात कर रही है। हत्‍यारों का पता नहीं चल सका है। आक्रोशित परिवार के लोग व ग्रामीण पुलिस को शवों को सौंपने से इंकार कर दिया है। उच्‍चाधिकारियों को बुलाने की मांग की जा रही है।सगे भाई धान का कारोबार करते थे, व्‍यापारी से रुपये लेने गए थेयमुनापार के कोरांव थाना क्षेत्र के गजाधरपुर गांव निवासी पप्‍पू केसरी रहते हैं। उनके दो पुत्र विकास केसरी 25 और आकाश केशरी 22 हैं। दोनों सगे भाई धान का कारोबार करते थे। सोमवार की रात में विकास और आकाश गांव के ही मौनी आदिवासी के 20 वर्षीय पुत्र कलवा के साथ ड्रमंडगंज गए थे। वहां किसी व्‍यापारी को धान उन्‍होंने बेचा था, उसी का रुपया लेने तीनों गए थे।भाइयों को रुपये मिले या नहीं, इपिता पप्‍पू केसरी के मुताबिक तीन लाख रुपये लेने के लिए विकास, आकाश और कलवा एक ही बाइक से गए थे। उस पता नहीं चल सका है क‍ि व्‍यापारी से उन्‍हें रुपये मिले या नहीं, इसका पुलिस पता लगा रही है। कोरांव में बेलन नदी पुल पर मिले तीनों शवग्रामीणों के साथ तीनों के परिवार के सदस्‍य खोजते हुए रामगढ़ पुलिस चौकी के निकट अयोध्‍या ग्राम पंचायत स्थित बेलन नदी के पुल पर पहुंचे तो वहां बाइक खड़ी थी। नजदीक जाने पर उनके पैरों तले जमीन खिसक गई। विकास, आकाश ओर कलवा का शव वहां पड़ा था। कुछ ही देर में सूचना पर वहां पुलिस भी पहुंची। बताते हैं कि किसी के गले पर काला निशान था तो किसी के शरीर व गले पर चाकू के निशान थे।ग्रामीणों में वारदात को लेकर आक्रोशसुबह भारी संख्‍या में ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। एसओ खीरी, एसओ मांडा, इंस्‍पेक्‍टर कोरांव के साथ भारी संख्‍या में वहां पुलिस पहुंची। जांच पड़ताल की जा रही है। हालांकि आक्रोशित लोगों ने पुलिस को शव देने से मना कर दिया है। वहां क्षेत्रीय विधायक राजमणि कोल, तहसीलदार डाक्‍टर विशाल शर्मा, चेयरमैन नरसिंह कुमार केसरी भी पहुंच गए हैं। लोगों को समझाने का प्रयास किया जा रहा है।