डीएम ने मिशन शक्ति के अन्तर्गत अभियोजन अधिकारियों एंव शासकीय अधिवक्ताओं को किया निर्देशित।

बस्ती
Share News

*शमसुलहक खान की रिपोर्ट*

*डीएम ने मिशन शक्ति के अन्तर्गत अभियोजन अधिकारियों एंव शासकीय अधिवक्ताओं को किया निर्देशित।*

बस्ती:मा0 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर आगामी 100 दिन के भीतर मिशन शक्ति के अन्तर्गत महिला एंव बालिकाओं संबंधी अपराधों के अपराधियों को अधिक से अधिक मामलों में सजा कराने के लिए जिलाधिकारी श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने अभियोजन अधिकारियों एंव शासकीय अधिवक्ताओं को निर्देशित किया है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समीक्षा बैठक में उन्होने कहा कि आयुध अधिनियम से संबंधित ऐसे अपराधों में जो किसी गम्भीर मामले से जुड़े है, उसकी प्रभावी पैरवी करें तथा जमानत न होने दें। समीक्षा में उन्होने पाया कि पाक्सों एक्ट में भी सजा हुयी है। उन्होने निर्देश दिया कि पाक्सों एक्ट के अन्तर्गत संचालित सभी मुकदमों की सूची तैयार की जाय ताकि उसकी समीक्षा की जा सकें। जिला मजिस्ट्रेट ने अपराधियों की रिहाई, जमानतों की स्वीकृति/अस्वीकृति, सभी प्रकार के मुकदमों की आनलाईन फीडिंग, सम्मन का तामीला की गहन समीक्षा किया। उन्होने यह भी निर्देश दिया कि जिन मामलों में अधीनस्थ न्यायालयों से जमानत खारिज हुयी है उसमें सत्र न्यायालय में हुयी कार्यवाही की सूचना भी संकलित करें। पुलिस अधीक्षक आशीष श्रीवास्तव ने कहा कि सभी अभियोजक अपने लिए इस माह निस्तारित कराये जाने वाले अभियोगों की एक संख्या लक्ष्य के रूप में निर्धारित कर लें ताकि आगामी बैठक में समीक्षा की जा सकें। बैठक का संचालन प्रभारी संयुक्त निदेशक अभियोजन रमेन्द्र मोहन मिश्र ने किया। इसमें डी.जी.सी. फौजदारी परिपूर्णानन्द पाण्डेय, राममिलन यादव, एसपीओ पाक्सों एक्ट कमलेश कुमार चौधरी, रामप्रकाश दूबे, अखिलेश कुमार दूबे, लाल अभय प्रसाद, कुमार उत्कर्ष, अरविन्द कुमार पाण्डेय, अभियोजन अधिकारी तथा सहायक डीजीसी उपस्थित रहें।