पूरे वर्ष में जीरो अथवा एक प्रसव कराने वाली प्रत्येक ब्लॉक की तीन आशा को संविदा समाप्त करने की नोटिस जारी करने के दिए निर्देश: जिलाधिकारी!

बस्ती
Share News

*शमसुलहक खान की रिपोर्ट*

*पूरे वर्ष में जीरो अथवा एक प्रसव कराने वाली प्रत्येक ब्लॉक की तीन आशा को संविदा समाप्त करने की नोटिस जारी करने के दिए निर्देश:जिलाधिकारी!*

बस्ती 25 मई 2022 सू0वि0, पूरे वर्ष में जीरो अथवा एक प्रसव कराने वाली प्रत्येक ब्लाक की तीन आशा को संविदा समाप्त करने की नोटिस जारी करने के लिए जिलाधिकारी/अध्यक्ष जिला स्वास्थ्य समिति श्रीमती सौम्या अग्रवाल ने सभी एमओआईसी को निर्देशित किया है। कलेक्टेªट सभागार में आयोजित समिति की बैठक में आयी हुयी उन्होने ऐसी तीन-तीन आशाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रभारी चिकित्साधिकारी प्रत्येक माह आशा के कार्यो की समीक्षा करें। उन्होने निर्देश दिया कि सभी प्रसव केन्द्र संचालित करें तथा पोर्टल पर फीड़िग पूरी करें।
उन्होने निर्देश दिया कि प्राइवेट चिकित्सालयों से प्रसव की रिपोर्ट प्राप्त न होने पर उनका पंजीकरण निरस्त करने की नोटिस जारी करें। जिले में ऐसे कुल 108 प्राबवेट अस्पताल है, जहॉ प्रसव कराया जाता है, परन्तु इसकी नियमित सूचना संबंधित एमओआईसी को नही दी जाती है।
राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की समीक्षा करते हुए उन्होने पाया कि विक्रमजोत, बहादुरपुर, बनकटी में अप्रैल माह में डाक्टरों की टीम द्वारा एक भी स्कूल एंव आगनबाड़ी के बच्चो का स्वास्थ्य परीक्षण नही किया गया है। जिलाधिकारी ने तीनों ब्लाक के दोनों टीम के डाक्टर एंव स्टाफ का वेतन रोकने का निर्देश दिया। उन्होने यह भी निर्देश दिया है कि टीम द्वारा स्कूल एंव आगनबाड़ी के बच्चों का एक साथ स्वास्थ्य परीक्षण किया जाय। कोविड के कारण पिछले दो वर्ष में यह कार्य नही हो पाया। उन्होने टीम का माइक्रोप्लान अपडेट करने तथा उन्हें वाहन, मशीन, दवाए आदि उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उल्लेखनीय है कि प्रत्येक ब्लाक में आर.बी.एस.के. दो-दो टीमे संचालित है।
उन्होने निर्देश दिया है कि मैटरनल डेथ की सूचना आगनबाड़ी अपने क्षेत्र से एकत्र कर संबंधित सीडीपीओ को उपलब्ध करायेंगी। प्रसव होने के 40 दिन के भीतर मृत्यु होने पर सोशल आडिट करके मृत्यु के कारणों का पता लगाया जाता है। जिलाधिकारी ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व योजना तथा प्रधानमंत्री मातृत्व वंदन योजना की गहन समीक्षा किया।
नियमित टीकाकरण की समीक्षा करते हुए उन्होने निर्देश दिया कि इसका नया माइक्रोप्लान बनाया जाय, सुपरवाइजरी विजिट बढाया जाय। इस शनिवार को बी.एच.एन.डी. तथा नियमित टीकाकरण के निरीक्षण के लिए मजिस्टेªट, बीडीओ, स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी को क्षेत्र में जाने के लिए उन्होने निर्देशित किया है।
बैठक का संचालन डीपीएम राकेश पाण्डेय ने किया। बैठक में सीडीओ डा. राजेश कुमार प्रजापति, सीएमओ डा. चन्द्रशेखर, एसीएमओ डा. फखरेयार हुसैन, डा. सी.एल. कन्नौजिया, डा. सी.के. वर्मा, एस.आई.सी. आलोक वर्मा, सीएमएस डा. के.डी. पाण्डेय, नगरीय नोडल डा. ए.के. कुशवाहॉ, महिला चिकित्साधिकारी डा. आकांक्षा गुप्ता, डा. जय सिंह, यूनिसेफ कीे अनीता सिंह, डब्ल्यू.एच.ओ. के डा. स्नेहिल तथा डा. प्रीती, प्रभारी चिकित्साधिकारीगण उपस्थित रहें।