डीएवी पब्लिक स्कूल खड़िया ने जीता सांस्कृतिक प्रतियोगिता चैम्पियन का ख़िताब

सोनभद्र,

“हरे रामा सावन की ऋतु है सुहानी, बरस रहा पानी रे हरी” गीत ने लुभाया सबका मन

शक्तिनगर(सोनभद्र)। डीएवी पब्लिक स्कूल खड़िया ने जीता चैम्पियन का ख़िताब दिनांक 19 एवं 20 अगस्त को एनसीएल की अंतर विद्यालयी सांस्कृतिक प्रतियोगिताएं संपन्न हुई। जिसमें एम पी तथा यू पी के एनसीएल के अंतर्गत आने वाले 12 विद्यालय के प्रतिभागियों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों में हिस्सा लिया।

जिसमें एकल नृत्य, एक लोक नृत्य, एक लोकगीत, एकल भजन, एकल कजरी, लाइट सॉन्ग तथा वादन के अंतर्गत हारमोनियम, तबला, गिटार एवं सिंथेसाइजर वादन जैसे कार्यक्रमों पर प्रतियोगिताएं संपन्न हुई।

डीएवी पब्लिक स्कूल खड़िया के प्रतिभागियों में एकल नृत्य के अंतर्गत भरतनाट्यम की प्रस्तुति पर कक्षा ग्यारहवीं की छात्रा कोमल रानी ने प्रथम स्थान अर्जित कर जहां विद्यालय का मान बढ़ाया वही कक्षा 12वीं की छात्रा खुशी पांडे ने एकल गीत कजरी (हरे रामा सावन की ऋतु है सुहानी, बरस रहा पानी रे हरी) की मनमोहक प्रस्तुति देकर प्रथम स्थान अर्जित कर विद्यालय को गौरवान्वित किया।

सिंथेसाइजर वादन में कक्षा सातवीं के छात्र प्रनीत पांडेय ने जहां द्वितीय स्थान अर्जित कर अपनी पहचान बनाई वही कक्षा नौवीं की छात्रा अंकिता सोनी ने लाइट सॉन्ग (कौन आया मेरे मन के द्वारे ,पायल की झंकार लिए) गीत पर प्रथम स्थान अर्जित कर अपनी छाप छोड़ी। समूह गान कव्वाली ( मेरे भारत जैसा कोई देश नहीं) गीत पर अंकिता, नेहा, सुनिधि, प्राची, पल्लवी, खुशी, अखिल पांडेय एवं सुजल जायसवाल ने जहां अपनी सुंदर प्रस्तुति देकर द्वितीय स्थान अर्जित किया।

वही राजस्थानी समूह नृत्य ( रुनझुन बाजे घुघरा) गीत पर रिया, पल्लवी, आफरीन, समर्पित कौर, आर्या, माही एवं देविका ने प्रथम स्थान अर्जित कर विद्यालय की गरिमा में चार चांद लगाया। ओवरऑल चैंपियनशिप का खिताब डीएवी खड़िया के नाम रहा। मनीष कुमार डायरेक्टर पर्सनल एन सी एल सिंगरौली ने चैम्पियन ट्राफी प्राचार्या सहित प्रतिभागियों को प्रदान किया।

आज प्रातः कालीन प्रार्थना सभा में प्राचार्या श्रीमती संध्या एल पांडेय ने प्रतिभागियों सहित सभी का उत्साहवर्धन करते हुए विजेता प्रतिभागियों की भूरि – भूरि सराहना की तथा एनसीएल द्वारा प्रदत ओवर ऑल चैंपियनशिप की ट्रॉफी प्रतिभागियों को प्रदान कर उनको गौरवान्वित किया तथा साथ ही साथ सांस्कृतिक, खेलकूद एवं परीक्षा परिणाम और हर विधा में अच्छा करने का आशीर्वाद एवं संदेश भी दिया।