रामपुर डीएम और रामपुर एसपी ने किया कोसी नदी क्षेत्र का निरीक्षण

उत्तर प्रदेश प्रमुख समाचार रामपुर
  • रुस्तम नगर छपर्रा क्षेत्र में कोसी नदी पर 24 घंटे निगरानी के निर्देश
  • 35 बाढ़ चौकियां सक्रिय, जिले से लेकर तहसील स्तर तक कंट्रोल रूम संचालि

डिप्टी ब्यूरो चीफ सलमान खान

रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह और रामपुर एसपी विद्या सागर मिश्रा द्वारा रामपुर शहर, लालपुर, प्राणपुर और रूस्तमनगर छपर्रा का निरीक्षण किया। रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह को रामपुर शहर में अजीतपुर क्षेत्र के निरीक्षण के दौरान नाले पर अतिक्रमण मिला जिसकी वजह से बारिश के जल निकासी में अवरोध उत्पन्न हो रहा था। रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह ने नगर पालिका अधिशासी अधिकारी को तत्काल अतिक्रमण हटवाने के निर्देश दिए। रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह के निर्देश के उपरांत अधिशासी अधिकारी द्वारा जेसीबी के साथ मौके पर पहुंचें जहां गृह स्वामी ने स्वयं अवैध अतिक्रमण हटा लिया।
मानसून से पूर्व ही रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह द्वारा पूरे रामपुर शहर का भ्रमण किया गया था जिसके बाद कई महत्वपूर्ण इलाकों में स्थित मुख्य नालों से अवैध अतिक्रमण को हटाने के लिए अभियान चलाया गया था। इसके बाद रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह और रामपुर एसपी विद्या सागर मिश्रा द्वारा गांधी समाधि पर जल भराव की समस्या का जायजा लिया गया, बता दें कि रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह ने अधिशासी अधिकारी को निर्देश दिए कि वह गांधी समाधि पर जल भराव की समस्या के स्थाई समाधान के लिए पाइप लाइन बनवाएं। जबकि रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह और रामपुर एसपी विद्या सागर मिश्रा ने प्राणपुर, लालपुर और रुस्तम नगर छपर्रा क्षेत्र में कोसी नदी का निरीक्षण किया। रुस्तमनगर छपर्रा में कोसी नदी के जलस्तर को देखते हुए सतर्कता के दृष्टिकोण से 24 घंटे निगरानी करने और जलस्तर में तेजी से बढ़ोतरी या कटान जैसी आशंका पर तत्काल जरूरी कदम उठाने के लिए स्वार एसडीएम को निर्देश दिए। रामपुर जिले में स्वार टांण्डा कोसी नदी और सदर तहसील क्षेत्र से होकर बहती है। वर्तमान स्थिति के अनुसार दढ़ियाल कोसी नदी का जलस्तर अभी खतरे के निशान से नीचे है परंतु फिर भी प्रशासनिक स्तर से पूरी सतर्कता बरती जा रही है। शाहबाद तहसील के ग्राम मदारपुर में पिछले वर्ष कोसी नदी में जलस्तर बढ़ने की वजह से काटन की समस्याओं का सामना करना पड़ा जिसके बाद सिंचाई विभाग की तरफ से वहां सुरक्षात्मक कार्य कराए गए थे, परिणाम स्वरुप वर्तमान में मदारपुर में कटान जैसी समस्या अभी नहीं है। नदी क्षेत्र में बाढ़ अथवा अत्यधिक जलस्तर बढ़ने की स्थिति में तत्काल प्रभाव से राहत पहुंचाने के लिए 35 बाढ़ चौकियां सक्रिय की गई है इसके साथ ही रामपुर जिले स्तर पर प्रत्येक तहसील में कंट्रोल रूम भी बनाए गए हैं। जिला मुख्यालय पर 0595 2350404, 9068302632, 8445161506, नहर विभाग- 05952327006, सदर तहसील – 9536419042, स्वार तहसील – 8439793264, टांण्डा तहसील – 05953569687, बिलासपुर तहसील – 05952412020, मिलक तहसील – 6396994400, शाहबाद तहसील – 9149088640 संचालित किए गए हैं। रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह ने नदी क्षेत्र के आसपास बसे गांव के लोगों से अपील की है कि वह नदी को तैरकर पार न करें क्योंकि नदी का जलस्तर बढ़ा हुआ है साथ ही अफवाहों पर भी बिल्कुल ध्यान न दें। प्रशासनिक स्तर से लगातार सतर्कता बरती जा रही है और संवेदनशील क्षेत्रों का संबंधित एसडीएम एवं अन्य अधिकारियों द्वारा निरीक्षण करके जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं। रामपुर डीएम जोगिन्दर सिंह और रामपुर एसपी विद्या सागर मिश्रा के निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व श्री हेम सिंह सहित अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।